fbpx
Sale!

Gavyamrut Memory Booster

Availability:

In stock


89.00 100.00

In stock

मानसिक तनाव को दूर करने – प्रतिदिन रात को 2-2 बूँद मैमोरी बूस्टर को गुनगुना कर दोनों नाक के छेदों में डालें तथा भीतर खींच लें। इस प्रकार यह रात्रि भर आक्सीजन (प्राणवायु) मस्तिष्क को पहुँचाता रहेगा और मस्तिष्क को चार्ज करता रहेगा। इससे हम अपनी मानसिक शक्ति का अधिक उपयोग कर सकेंगे। यदि इस क्रिया को दिन में 3-4 बार करें। यदि दो मास तक रोगी के नाक के छेदों में किया जाय, तो वह वायु के प्रवाह के बीच आने वाली बाधा दूर करने और अनेक पुराने रोगों के ठीक करने में विलक्षण औषधि का काम करता है। इसके द्वारा प्रमुख ग्रंथियों, जैसे-तृतीय-नेत्र ग्रंथि, पोष ग्रंथि के माध्यम से कोशाओं का उपस्नेहन (लुब्रिकेशन) होता है और शुष्कता, सूजन, आंतचल (कोऐग्युलेशन) रक्तस्राव (हैमरेज) जैसे रोगों का निवारण होता है। शीत, कोटर-संक्रामण (साइनस इन्फेक्शन) अथवा नासिका-गिल्टी (नेजल पाआॅलीपस) आदि वायुमार्ग के खुल जाने से और ग्रसनि-कपाट (फैरेन्जाइल वाॅल्व) ढीले होने से निवारण हो जाते हैं, और श्वसन को रोकने वाला श्लथ (फ्लैसिड) दूर हो जाता है।

अच्छी नींद- रात को मैमोरी बूस्टर दोनों नाक के छेदों में 2-2 बूँद देशी गाय का गुनगुना घी डालें और भीतर खींच लें। फिर 2-3 बूँद नाभि पर डाल लें फिर लें फिर तीन-तीन बार क्लाॅक वाइज व एन्टी क्लाॅक वाइज उंगली घुमालें। साथ ही पाँव के तलवों पर मालिश करें, बहुत अच्छी नींद आयेगी। शांति व आनन्द का अनुभव होगा। मस्तिष्क निद्रा-प्रेरक हारमोन्स को मुक्त करेगा और चार घंटे की नींद का काल, 90 मिनट गहरी नींद और हल्की नींद का चक्र बना रखेगा।

स्मरण शक्ति बढ़ाने- स्मरण शक्ति के लिए विशेष रूप से बच्चों व विद्यार्थियों के लिए दोनों नाक के छेदों में 2-2 बूँद मैमोरी बूस्टर गुनगुना कर डालें और भीतर खींच लें तथा नाभि पर 2 बूँद डालें फिर कपड़े की गीली पट्टी और उसके ऊपर सूखी कपड़े की पट्टी रखें, करीब 15-20 मिनट नित्य प्रति करें। इससे पेट की तमाम बीमारियाँ दूर होकर स्मरण शक्ति बढ़ती है।